माघ मास गुप्त नवरात्रि : कथा व्रत पूजा विधि

माघ मास गुप्त नवरात्रि
25 जनवरी से 3 फरवरी

प्रत्यक्ष फल देती है गुप्त नवरात्रि

कथा :-
पौराणिक कथाओं अनुसार एक बार माता सती के पिता दक्ष ने बड़े यज्ञ का आयोजन किया। जिसमें जाने की
पौराणिक कथाओं में वर्णन है कि एक बार राजा दक्ष ने विशाल यज्ञ का आयोजन किया।  लेकिन उस विशाल यज्ञ में ना तो अपनी पुत्री को निमंत्रित किया ना ही अपने जमाता  भगवान् शिव को।  अन्य देवी देवताओं को यज्ञ में  जाते देख माता सती  के मन में भी अपने पिता के यहाँ जाने की तीव्र उत्कंठा उदित हुई।  लेकिन बी भगवान् शिव ने कहा की जब हमें आमंत्रित ही  नहीं किया गया तो हम कैसे जा सकते हैं। तब माता सती  ने अपनी दस अलौकिक महाविद्याओं का प्रदर्शन किया। भगवान् शिव ने माता सती  से  पूछा कि ये कौन हैं, तब माता सती  ने कहा कि  ये यह मेरे दस दिव्य रूप हैं सामने काली हैं, पश्चिम में छिन्नमस्ता  है तथा नीले  रंग की देवी तारा हैं। बाएं भुवनेश्वरी देवी और पीठ के पीछे देवी बगलामुखी हैं। पूर्व - दक्षिण में धूमवती, दक्षिण में त्रिपुर सुंदरी हैं।  उत्तर - पूर्व में षोड़शी देवी और पश्चिम - उत्तर में मातंगी देवी है ,और मैं स्वयं भैरवी  रूप में
अभयदान देती हूँ।


पूजा विधि:-
माघ मास की गुप्त नवरात्रि के पहले दिन प्रतिपदा तिथि को सूर्योदय से लेकर सूर्यास्त के पूर्व तक शुभ मुहूर्त में घटस्थापना, कलश स्थापना किया जा सकता है, वैसे नवरात्रि काल के पूरे दिन अपने आप में शुभ मुहूर्त वाले माने जाते हैं। माता के चित्र या मूर्ति की स्थापना कर लाल फूलों सहित षोडशोपचार विधि से पूजन कर माँ दुर्गा के बीज मंत्रों या फिर नौ दिनों तक गायत्री महामंत्र का जप करना चाहिए। विशेष रूप से गुप्त नवरात्रि में इन दस देवियों दस महाविद्याओं की पूजा आराधना की जाती है।

माघ मास की गुप्त नवरात्रि की सम्पूर्ण तिथियां

1- प्रतिपदा तिथि– 25 जनवरी 2020 दिन शनिवार
घटस्थापना, कलश स्थापना, शैलपुत्री पूजा

2- द्वितीया तिथि– 26 जनवरी 2020 दिन रविवार 
ब्रह्मचारिणी पूजा

3- तृतीया तिथि– 27 जनवरी 2020 दिन सोमवार
ब्रह्मचारिणी पूजा

4- तृतीया तिथि– 28 जनवरी 2020 दिन मंगलवार
चंद्रघंटा पूजा

5- चतुर्थी तिथि– 29 जनवरी 2020 दिन बुधवार
कुष्मांडा पूजा

6- पंचमी तिथि– 30 जनवरी 2020 दिन गुरुवार
स्कंदमाता पूजा

7- षष्ठी तिथि– 31 जनवरी 2020 दिन शुक्रवार
कात्यायनी पूजा

8- सप्तमी तिथि– 1 फरवरी 2020 दिन शनिवार
कालरात्रि पूजा

9- अष्टमी तिथि – 2 फरवरी 2020 दिन रविवार
महागौरी पूजा, दुर्गा अष्टमी, महाष्टमी पूजा, संधि पूजा

10- नवमी तिथि – 3 फरवरी 2020 दिन सोमवार
सिद्धिदात्री पूजा, नवरात्रि पारण, नवरात्री हवन

गुप्त नवरात्रि महामहोत्सव की जय

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने